अगर फोन के कीपैड में नंबर सीधे हैं तो कैलकुलेटर में नंबर उलटे क्यों ? जानिए सच

अगर आपने कभी ध्यान दिया हो तो कैलकुलेटर में नंबर नीचे से ऊपर की तरफ दिए होते हैं और फ़ोन के कीपैड में 0 तो सबसे नीचे ही होता है लेकिन बाकी नंबर ऊपर से नीचे की तरफ दिए होते हैं। क्या अपने कभी सोचा है इनके कीपैड में ये अंतर क्यों होता है ? आइये आपको बताते हैं इनमे ये अंतर क्यों रखा गया।

इसकी शुरुआत होती है प्री-कैलकुलेटर के दिनों से जब मैकेनिकल कैश रजिस्टर्स काम में लिए जाते थे। इन कैश रजिस्टर्स में सबसे नीचे 0 और फिर नीचे से ऊपर की तरफ नंबर्स दिए गए थे। कैलकुलेशन में 0 का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है इस कारण 0 को सबसे नीचे जगह दी गई। जब मैकेनिकल कैलकुलेटर बनाया गया तब इसी पैटर्न को ध्यान में रखा गया और उसके नंबर्स भी इसी क्रम में रखे गए और बाद में यही क्रम इलेक्ट्रॉनिक कैलकुलेटर में भी जारी रहा।

इसके बाद जब rotary dials फ़ोन (जिसमें उंगली से एक एक नंबर को पूरा राउंड घुमा कर डायल करना होता था) इजात किया गया उसमे राउंड डायल दिया गया जिसमे बढ़ते क्रम में नंबर दिए गए 0 से 9।

इसके बाद Bell Laboratories ने Touch Tone फ़ोन इजात किया जिसमे फ़ोन मिलाने के लिए नंबर्स को प्रेस करना होता था। लेकिन Bell Laboratories के सामने एक सवाल था की इसके कीपैड पर नंबर किस क्रम में लगाए जाएँ। इसके लिए इन्होने कई तरह के मॉडल तैयार किये और नंबर्स को व्यवस्थित करने के लिए नंबर्स की कई तरह की मैट्रिक्स डिज़ाइन की।

लेकिन जब इन सब module को टेस्ट किया गया तो ये पाया गया की 3X3 मैट्रिक्स वाले नंबर जिसमे 0 सबसे नीचे रखा गया और बाकी नंबर ऊपर से नीचे की तरफ क्रम से लगाए गए तो उसमे सबसे कम error पाई गई और नंबर डायल करने में सबसे अधिक सुविधाजनक थे।

इस नतीजे के आधार पर Touch Tone फ़ोन ये 3X3 मैट्रिक्स वाले नंबर लगाए गए जो सबसे ज्यादा सुविधाजनक थे और इसी क्रम को आगे के सभी बेसिक फ़ोन और स्मार्टफोन में भी जारी रखा गया।

आपको यह लेख कैसा लगा? अगर इस लेख से आपको कोई भी मदद मिलती है तो हमें बहुत खुशी होगी। अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। हमारी शुभकामनाएँ आपके साथ है, हमेशा स्वस्थ रहे और खुश रहे।

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

“सेविंग अकाउंट और करेंट अकाउंट में क्या अंतर होता है?”

अगर आप किसी विषय के विशेषज्ञ हैं और उस विषय पर अच्छे से लिख सकते हैं तो जागरूक पर जरुर शेयर करें। आप अपने लिखे हुए लेख को info@jagruk.in पर भेज सकते हैं। आपके लेख को आपके नाम, विवरण और फोटो के साथ जागरूक पर प्रकाशित किया जाएगा।
शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment