मौसम बदलते ही इंसान बीमार क्यों होता है?

फरवरी 26, 2017

यह बात तो हम सभी ने देखी है कि मौसम बदलते ही इंसान सर्दी जुखाम खांसी या वायरल बुखार जैसी बीमारियों का शिकार हो जाता है। लेकिन आज हम आपको इसकी असली वजह बताने जा रहे हैं। आपको बता दें कि जैसे ही तापमान में बदलाव आता है तो कई नई श्रेणी के वायरस पनपने लग जाते हैं और यह वायरस लोगों को बीमार करने में कोई कसर नहीं छोड़ते।

राइनोवायरस और कोरोनावायरस इन वायरसों के दो मुख्य एजेंट हैं जो की सर्दियों और गर्मियों में लोगों को बीमार करने में मुख्य भूमिका निभाते हैं। यह एक प्रकार के इन्फ्लूएंजा है जो बहुत तेजी से पनपता है और लोगों को सर्दी खांसी और अन्य बीमारियों की चपेट में ले लेते हैं। इन परिस्थितियों में इंसान को पूर्ण रुप से सामंजस्य बिठाना होता है जिसमें कई लोग अपने इम्यून सिस्टम कमजोर होने के कारण बीमारियों का शिकार हो जाते हैं।

बाहरी तापमान बदलने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कम हो जाती है जिसकी वजह से इंसान बहुत जल्दी बीमार पड़ जाता है। मौसम बदलने पर सिरदर्द, बुखार, जुखाम और थकावट जैसी शिकायतें एक आम रोग है। इसके अलावा यह रोग डिप्रेशन, माइग्रेन और हार्ट अटैक की समस्या के दौरान भी हो सकते हैं। अगर आप इन सभी रोगों से बचना चाहते हैं तो अपनी डाइट में विटामिन सी और हर्बल डी की मात्रा बढ़ा दें इसके साथ ही जूस फल सब्जी इत्यादि नियमित तौर पर लें।

खुद को फिट रखने के लिए आप को पोष्टिक भोजन, हाईजीन, कसरत इन सभी पर पूर्ण रुप से ध्यान देना होगा नहीं तो जब भी मौसम बदलेगा आप बीमार होंगे। लेकिन अगर आप यह सारी चीजें अपनाते हैं तो आपके बीमार पड़ने के चांसेस कम हो जाएंगे।

“सुस्ती के कारण और इसे दूर करने के उपाय”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें