डाकघर में क्यों इस्तेमाल किया जाता है पिन कोड

हम सभी ने अपने जीवन में कई बार किसी ना किसी को पत्र जरूर भेजा होगा। पत्र भेजने की प्रक्रिया के दौरान हम लोग पिन कोड का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि इस पिन कोड का के इस्तेमाल के पीछे क्या लॉजिक है तो चलिए आज हम आपको इस बारे में बताते हैं।

किसी भी संदेश को एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजने के लिए पत्र व्यवहार का इस्तेमाल किया जाता है और इस पत्रव्यवहार की प्रक्रिया को सटीक रुप से कार्यान्वित करने के लिए 6 अंकों का पिन कोड इस्तेमाल किया जाता है।

पिन कोड का पहला अंक इलाके का प्रदर्शक है यानी के

उत्तर- 1,2
पश्चिम- 3,4
दक्षिण- 5,6
पूर्व- 7,8
आर्मी- 9
(यह दक्षिण है)

पिन कोड का दूसरा अंक क्षेत्र को प्रदर्शित करता है

पिन कोड में उप क्षेत्र को पहले अंक के साथ लिखा जाता है।

पिनकोड में तीसरा अंक जिले को दर्शाता है।

अंतिम अंक पोस्ट ऑफिस का नंबर होता है।

यह पिन कोड है जिसकी वजह से चिट्ठी सही समय पर पहुंच पाती है।

अगर आप किसी विषय के विशेषज्ञ हैं और उस विषय पर अच्छे से लिख सकते हैं तो जागरूक पर जरुर शेयर करें। आप अपने लिखे हुए लेख को info@jagruk.in पर भेज सकते हैं। आपके लेख को आपके नाम, विवरण और फोटो के साथ जागरूक पर प्रकाशित किया जाएगा।
शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment