गाड़ियों की नंबर प्लेट अलग अलग रंग की क्यों होती है?

जुलाई 30, 2016

अगर आपने गाड़ियों की नंबर प्लेट पर कभी गौर किया हो तो आपने देखा होगा की सभी गाड़ियों की नंबर प्लेट एक जैसे कलर की नहीं होती। कुछ गाड़ियों की नंबर प्लेट नीली होती हैं, कुछ की पीली कुछ की काली और कुछ गाड़ियों की नंबर प्लेट सफेद कलर की होती है। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि यह सिर्फ डिज़ाइन मात्र है या उसके पीछे भी कोई वजह है। जी हां अलग अलग कलर के नंबर प्लेट होने के पीछे भी एक वजह है। सभी कलर की नंबर प्लेट का अपना एक अलग मायना है। तो आइए आपको बताते हैं किस कलर की नंबर प्लेट का क्या है मतलब।

सफेद कलर की नंबर प्लेट – घरेलू उपयोग में आने वाली गाड़ियों की नंबर प्लेट सफेद कलर की होती है इन गाड़ियों को आप कमर्शियल गाड़ियों के रुप में काम में नहीं ले सकते और इन सफेद कलर की प्लेट के ऊपर काले रंग के नंबर लिखे होते हैं।

पीले कलर की नंबर प्लेट – जिन गाड़ियों को कॉमर्शियल के उद्देश्य के लिए उपयोग किया जाता है जैसे टैक्सी, ट्रेवल, ट्रक इत्यादि, उनकी नंबर प्लेट पीले कलर की होती है और इन पीले कलर की नंबर प्लेट के ऊपर काले रंग के नंबर लिखे होते हैं।

नीले कलर की नंबर प्लेट – साधारणतया आपको नीले कलर की नंबर प्लेट की गाड़ियां बहुत कम दिखाई देंगी क्योंकि यह नीले कलर की नंबर प्लेट उन गाड़ियों पर लगी होती है जो गाड़ियां विदेशी दूतावास की है या फिर यूएन मिशन के लिए हैं। इन नीले कलर की नंबर प्लेट पर सफेद कलर से नंबर लिखे होते हैं।

काले कलर की नंबर प्लेट – आमतौर पर आपको काले कलर की नंबर प्लेट वाली गाड़ियां भी बहुत कम देखने को मिलेंगी वैसे तो यह भी कमर्शियल गाड़ियों के लिए ही इस्तेमाल होती हैं लेकिन यह कुछ खास व्यक्तियों के लिए ही होती हैं। इन काले कलर की नंबर प्लेट के ऊपर पीले कलर से नंबर लिखे होते हैं।

लाल कलर की नंबर प्लेट – आपने कभी गौर किया हो या आपके सामने कभी ऐसी गाड़ी आई हो जिसकी नंबर प्लेट लाल कलर की हो तो आपने देखा होगा वह किसी वीआईपी की गाड़ी होगी जैसे राज्यपाल, राष्ट्रपति या देश का कोई बड़ा व्यक्ति। यह गाड़ियां बिना लाइसेंस की ऑफिशियल गाड़ियां होती हैं इन गाड़ियों की लाल कलर की नंबर प्लेट के ऊपर गोल्डन कलर से नंबर लिखे होते हैं।

“सेब का सिरका के फायदे”

अगर आप हिन्दी भाषा से प्रेम करते हैं और ये जानकारी आपको ज्ञानवर्धक लगी तो जरूर शेयर करें।
शेयर करें