क्यों आप आँख खोल के छींक नहीं पाते ?

जब कभी भी मौसम में बदलाव होता है तो छींक आना आम बात है। यह बात हम सभी जानते है की छींक करीब 90 से 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ़्तार से आती है। मगर क्या कभी आपने सोचा है की छींक आते वक़्त आपकी आँखे बंद क्योँ हो जाती है। इतना ही नहीं आप चाह कर भी अपनी आँख खोल के छींक नहीं पाते है।

कई शोधों में यह पाया गया है की छींक जब भी आती है तो आँखों के करीब 3 नसें काम में आती है। यह नसें इतनी नाज़ुक होती है की अगर जोर से आँख खोल के छींक लेंगे तो आँखों पर बुरा प्रभाव पड़ेगा क्योँकि यह नसें वो दबाव झेल नहीं पाएंगी। लेकिन अगर आप सोच रहे है की आपकी ऑंखें बाहर आ जाएगी तो ऐसा नहीं है।

ऐसा इसलिए भी होता है की जब हम छींक लेते है तो अंदर का दबाव साँस के द्वारा बहार आता है और यह हमारी नाक के दोनों छिद्रों से बाहर निकलता है। इस प्रक्रिया के दौरान भी ऑंखें बंद हो जाती है। जैसा हमने पहले भी बताया की नसों के नाज़ुक होने की वजह से हमारा दिमाग यह सन्देश भेजता है जिस वजह से आँखें बंद हो जाती है।

“क्यों हो जाती है हमारी आंखें कमजोर, जानिए मुख्य कारण”
“अपनाएं ये 10 टिप्स, कंप्यूटर के सामने बैठने पर नहीं होगा आँखों में तनाव”
“जानिए आंखों और आंसुओं के बीच का गहरा रिश्ता”

शेयर करें

रोचक जानकारियों के लिए सब्सक्राइब करें

Add a comment