यहां पर हवा में तैरता है पत्थर

929

आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर पत्थर हवा में तैरता है। सुनने में यह बात थोड़ी सी चमत्कारी और अविश्वसनीय लगती है लेकिन आज हम आपको ऐसी ही जगह के बारे में बताने जा रहे हैं। सूफी संत हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह के 805 वर्ष 24 मार्च को शुरू होने जा रहा है और इसके लिए यहां पर देश और दुनिया के कई लोग आकर जुटेंगे लेकिन आपको बता दें कि इस जगह पर एक ऐसा चमत्कारी पत्थर भी है जो बिना किसी सहारे के हवा में 2 इंच ऊपर उठा हुआ है।

यह पत्थर यहां के लोगों के लिए किसी अजूबे से कम नहीं है इतना ही नहीं देश और दुनिया के कई वैज्ञानिक इस पत्थर के चमत्कार को ढूंढने में लगे हुए हैं लेकिन अभी तक किसी को कोई सफलता हाथ नहीं लगी है।

आपको बता दें कि यह पत्थर अजमेर शरीफ दरगाह तारागढ़ पहाड़ी की तलहटी में स्थित है। अजमेर की दरगाह पर हिंदुस्तान के अलावा ईरानी आर्किटेक्चर की झलक भी देखने को मिलती है। इस दरगाह को मुस्लिम समाज के अलावा कई और मजहब के लोग भी मानते हैं। इस जगह पर कई चमत्कारी अद्भुत चीजें देखने को मिलती हैं जिनमें से यह पत्थर भी शामिल है। यह पत्थर हवा में 2 इंच ऊपर उठा हुआ है और वह भी बिना किसी सहारे के यह माना जाता है कि यहां पर यह पत्थर किसी शख्स के ऊपर गिरने वाला था लेकिन ख्वाजा साहब को याद करने पर यह पत्थर वहीं रुक गया तब से लेकर अब तक यह हवा में ही रुका हुआ है।

“हाल ही में किये गए कुछ अविश्वसनीय आविष्कार”
“दुनिया की सबसे लंबी नदी से जुड़े रोचक तथ्य जो आपने पहले नहीं सुने होंगे”
“दुनिया की 9 रहस्यमयी जगह जहां हम नहीं जा सकते”

Add a comment