भारत और पाकिस्तान के बंटवारे के यह 7 फैक्ट्स आप नहीं जानते होंगे

भारत और पाकिस्तान का बंटवारा इतिहास की अत्यंत दुखद घटनाओं में से एक है। जाने कितनों की जान गयी कितने ही घर बर्बाद हुए पर आज हम आपको भारत और पाकिस्तान के बंटवारे के कुछ ऐसे तथ्य बताने जा रहे हैं जिनको जान के आप दंग रह जायेंगे।

1. भारत के बंटवारे में सबसे अहम था दोनों देशों की सीमा का निर्धारण करना। यह काम सायरिल रैडक्लिफे को दिया गया था मगर आप यह जान के दंग रह जायेंगे की वह भारत में कुछ ही दिन पहले आये थे और उन्हें सिर्फ भौगोलिक जानकारी थी। वह भारत के बारे में इसके अलावा कुछ नहीं जानते थे। इसी कारण उन्होंने भारत के विभाजन के दौरान जाती धर्म को आधार ही नहीं माना।

2. भारत सरकार के अनुसार 14 मिलियन लोगो को इस दौरान भारत से पाकिस्तान भेजा गया यह इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा विस्थापन था।

3. क्या आपने कभी यह सोचा है की भारत का स्वाधीनता 15 और पाकिस्तान का 14 को क्योँ मनाया जाता है ? वो इसलिए क्योँकि मॉउंट बेटन दोनों देशो में उपस्थित रहना चाहते थे इसी वजह से ऐसा किया गया अन्यथा दोनों के स्वाधीनता दिवस एक ही दिन मनाये जाते।

4. जब भारत को आज़ादी मिली उस समय गांधी जी दिल्ली में नहीं थे क्योँकि कलकत्ता में जातिगत दंगे हो गए थे।

5. ये तो हम सब जानते है की भारत का स्वाधीनता दिवस 15 अगस्त और पाकिस्तान का 14 अगस्त है पर क्या आप यह जानते हैं की भारत और पाकिस्तान की सीमा का निर्धारण 17 अगस्त को हुआ था।

6. पहले भारत और पाकिस्तान का विभाजन 1948 में होना था मगर बाद में ब्रिटिश सरकार के बदलाव के कारण इसमें फेर बदल किया गया।

7. क्या आप जानते हैं की 15 अगस्त तारीख के लिए जोतिष्याचार्य की भी मदद ली गयी थी मगर वह किसी भी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे।

“भारत की ख़ुफ़िया एजेंसी RAW की कुछ ख़ुफ़िया जानकारियां”
“भारत के 10 महान वैज्ञानिक”
“विज्ञान से जुड़ी कुछ हैरान कर देने वाली जानकारियां”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।