26 जनवरी परेड की 11 ऐसी बातें जो शायद आप नहीं जानते होंगे

1. 26 जनवरी परेड की शुरुआत तभी होती है जब राष्ट्रपति और उनके गार्ड उपस्थित हो जाते हैं। परेड की शुरुआत तभी होती है जब यह गार्ड सबसे पहले राष्ट्रपति को सलामी देते हैं। उसके बाद राष्ट्रपति को 21 तोपों की सलामी दी जाती है पर क्या आप जानते हैं की सही में इन तोपो की संख्या 7 ही है। इन तोपो को 25 पौंडर्स के नाम से जाना जाता है। यह तोप 1941 में भारतीय सेना में शामिल किया गया था।

2. सुरक्षा भी इस परेड का एक अहम मुद्दा होता है इस परेड में करीब 35000 सैनिक सिर्फ सुरक्षा में लगाये जाते हैं जिनमे इनके अलावा खोजी कुत्तों और अन्य उपकरणों का भी इस्तेमाल किया जाता है। पर क्या आप जानते हैं की परेड के दौरान आस पास की सारी बिल्डिंग्स को भी सीज़ कर दिया जाता है।

3. परेड की तयारी सुबह 2 बजे से शुरू हो जाती है और सही मायनो में इस परेड के लिए अगस्त से ही सैनिक तैयारी शुरू कर देते हैं। अगर सही शब्दों में कहा जाये तो हर एक सैनिक करीब 600 घंटो का अभ्यास कर लेता है जो की अपने आप में एक कीर्तिमान हैं।

4. परेड में भिन्न भिन्न प्रकार के टैंक और जहाज़ों का प्रदर्शन किया जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं इन सभी को इंडिया गेट के पास ही बनाये कैम्प्स में रखा जाता है। जब भी इनका प्रदर्शन होता है तो इन्हे कई बार चेक किया जाता है।

5. परेड से पहले कई दिनों के अभ्यास के बाद वो अनुशासन आ पाता है पर क्या आप जानते हैं की इस परेड के दौरान हर व्यक्ति 9 से 12 किलोमीटर चलता है और ये ही नहीं हर 200 मीटर पर परेड को जज करने के लिए अनुवेशक रहते हैं।

6. परेड के दौरान सारे सैनिक अपनी रेजिमेंट के अनुसार ही मार्च करते हैं और अगर कोई भी गलती करता है तो उसे सजा भुगतनी पड़ती है।

7. परेड में शामिल हर सैनिक को 4 बार सुरक्षा जाँच से गुजरना पड़ता है तभी उसे राजपथ पर जाने की अनुमति मिलती है। हर हथियार को भी पूरी तरह से चेक किया जाता है जाहे कितना भी समय क्योँ न लगे।

8. इस बार की परेड में 36 कनीज़ 24 लाब्राडोर्ज़ 12 जर्मन शेपर्ड्स भी शामिल किये गए हैं जो सेना में सैनिक के रूप में कार्यरत हैं। यहाँ तक की हर कुत्ते का आर्मी हेडक्वाटर में पूरा रिकॉर्ड रखा जाता है।

9. क्या आप जानते हैं की परेड के दौरान निकलने वाली झांकी को ट्रक पर सजाया जाता है जिनकी अधिकतम गति 5 किलोमीटर से ज्यादा नहीं होती है। आपने देखा होगा की हर झांकी के साथ एक सैनिक पेडल मार्च करता है यह सैनिक असल में उस ड्राइवर का दिशा निर्देशक है जो की झांकी वाला ट्रक चला रहा है।

10. इस बार इतिहास में पहली बार फ्रांस की सेना टुकड़ी भी परेड में शामिल हो रही है पर क्या आप जानते हैं की परेड के दौरान हर एक सैनिक की ओसतन हृदय गति 120 बीट प्रति मिनट होती है।

11. परेड आकर्षण अंत में आने वाले विमान होते हैं पर क्या आप जानते हैं की पहले आने वाले विमान मौसम का सर्वे भी करते है की हेलीकाप्टर इस मौसम में उड़ भी सकते हैं या नहीं।

“स्विट्जरलैंड से जुड़ी बेहद दिलचस्प और अनसुनी बातें”

अगर ये जानकारी आपको अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।