सियाचीन के बारे में कुछ तथ्य

मार्च 4, 2016

सियाचीन में -45 डिग्री में देश की सुरक्षा करना कोई आसान काम नहीं है। जिस तापमान को सुनने मात्र से आपके रोंगटे खड़े हो जाते है जरा सोचिये ऐसी जगह पर हमारे सैनिक कैसे रहते होंगे। इतनी कठिनाई में सीमाओं की सुरक्षा करना कोई आम बात नहीं है। मगर सिर्फ ठण्ड ही नहीं और भी बहुत कुछ ऐसा है जिसे जानके आप के होश उड़ जायेंगे। तो चलिए आज हम आपको सियाचीन के बारे में कुछ ऐसे ही तथ्य बताएँगे जो सेना के प्रति आपके सम्मान को और बढ़ा देगा।

1. ये जगह इतनी ऊंचाई पर है की एक बार रसत पहुँचने के बाद दूसरी बार कब आएगी इसकी कोई जानकारी नहीं रहती क्योँकि सबकुछ मौसम पर निर्भर करता है। अगर मौसम ख़राब हो तो महीनो तक मदद नहीं आती है।

2. ख़राब मौसम के दौरान यहाँ पर कुछ भी देख पाना बिलकुल नामुमकिन है क्योँकि सफ़ेद अंधी में आँखें चकाचोंध हो जाती है। अब ज़रा सोचिये हमारे सैनिक किस तरह से काम करते होंगे।

3. यहाँ पर एक महीने का सामान एक साथ पहुँचाया जाता है मगर इस बात का कोई पता नहीं होता की इस सामान को कितने और दिन चलाया जाना है क्योँकि यह भी हो सकता है की 30 दिन के सामान को 60 दिन चलाना पड़े या और भी ज़्यादा।

4. सेनिको को वहां पर सोने के लिए पलंग नहीं मिलता है क्योँकि पलंग बहुत जगह घेरता है और जगह का इस्तेमाल ज़्यादा से ज़्यादा सामान रखने में किया जाता है।

5. अगर आपको गरम पानी की एक बाल्टी चाहिए तो उसे गरम करने में 3 घंटे लगते है।

6. शौचालय के लिए भी बर्फ में ही जाना पड़ता है जिससे तूफ़ान के दौरान जान जाने का खतरा रहता है।

7. इतनी ऊंचाई में कई सैनिकों को अकेलेपन और पागलपन की शिकायत हो जाती है क्योँकि ठण्ड से दिमाग सूज जाता है। इसीलिए सैनिकों को अन्य क्रियाओं में व्यस्त रखा जाता है।

8. सैनिकों को हफ्ते में एक बार घर बात करने की इजाज़त होती है वो भी बस 2 मिनट।

9. बर्फ में ज़्यादा समय बिताने से कई बीमारी हो जाती है जैसे फेफड़ों में इन्फेक्शन, बर्फ से घाव होना और भी कई अनजाने रोग।

10. 869 जवान यहाँ 2015 में शहीद हुए।

11. जब गश्त लगायी जाती है तो हर सैनिक के ऊपर 30 किलो वजन होता है।

12. यहाँ सर्दी इतनी है की पसीना भी खाल के अंदर ही जम जाता है। इसीलिए सेनिको को 7 लेयर की सुरक्षा जैकेट दी जाती है।

13. दवाई लेने के बाद ही शौच आता नहीं तो यहाँ पर आपको शौच नहीं आएगा और ऐसा न करने पर आपको बहुत गंभीर रोग हो सकते है।

शायद आप और हम इस बारे में सोचते भी नहीं है की कितनी मुसीबतों के बावजूद हमारे सैनिक हमारी सरहदों की रक्षा करते है। भारतीय सेना को हमारा सलाम, जय हिन्द।

“दिमाग से जुड़े कुछ अजब गजब रोचक तथ्य”

शेयर करें